Gaganyaan मिशन पर महिला को भेजना चाहता है ISRO, जानिए क्या है ये मिशन

0
49

नई दिल्ली: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान (ISRO) जल्द ही गगनयान को अंतरिक्ष में भेजेगा इसकी जानकारी इसरो प्रमुख ने प्रेस कॉन्फ्रेस कर दी। उन्होंने कहा इस अभियान की तैयारी शुरू कर दी गई। ये अभियान यदि सफल रहा तो ये ऐतिहासिक होगा।

इसरो प्रमुख ने कहा यह मिशन हमारे लिए काफी अहम होने वाला है क्योंकि हम गगनयान में एक इंसान को स्पेस में भेजेंगे और यान के जरिए ही वापस धरती पर लाएंगे। इस प्रक्रिया के दो पहलू हैं मानव और इंजीनियरिंग। उन्होंने बताया कि इंसान को अंतरिक्ष में भेजने के लिए एक नया सेंटर भी स्थापित किया गया है।

यह साल गगनयान के लिए काफी अहम है क्योंकि दिसंबर 2020 में पहला मिशन और जुलाई 2021 में दूसरा मिशन तैयार होगा, इसे पूरा करने के बाद दिसंबर 2021 में गगनयान मिशन होगा। उन्होंने आगे बताते हुए कहा कि इसरो के पास 17 मिशन थे जिनमें 7 लॉन्च व्हिकल मिशन, 9 अंतरिक्ष यान मिशन शामिल थे। इसरो ने इनमें से 17 मिशन पर सफलता पाई जबकि एक लक्ष्य से चूक गया।

गगनयान की ट्रेनिंग पूरी
इसरो मुताबिक गगनयान के लिए भारत में होने वाली ट्रेनिंग पूरी कर ली गई है लेकिन आगे की ट्रेनिंग के लिए अंतरिक्ष यात्री रूस जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि इस मिशन के लिए हम चाहते हैं कि किसी महिला को भेजा जाए लेकिन यह ट्रेनिंग पर निर्भर करेगा। फिलहाल महिला और पुरुष दोनों को ही ट्रेनिंग दी जा रही है।

इसरो ने 158 प्रोजक्ट में से 94 पूरे किए
आपको बता दें, इस साल हमने 2 GSLV और MK-3 लॉच किए हैं, इसके अलावा सबसे भारी सेटेलाइट जीसैट-11 भी लॉन्च किया गया। इसरो के मुताबिक उनके पास 158 प्रोजक्ट हैं जिनमें से 94 को पूरा किया जा चुका है। इसरो ने जम्मू यूनिवर्सिटी में एक साइंस सेंटर की भी स्थापना की है।

गगनयान में कितना खर्चा
इसरो के लिए कुल 30 हजार करोड़ की रकम को मंजूरी दी गई है जिसमें सिर्फ गगनयाद के लिए 10 हजार 600 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं। इस पैसे को अगले कुछ साल में खर्च किया जाएगा। इसके अलावा इसरो ने इस साल करीब 20 हजार नौकरियां भी दीं और 80 फीसदी पैसे का इस्तेमाल उद्योगों में किया गया है।

ये भी जानिए
-इसरो अंतरिक्ष यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजने के लिए सबसे बड़े रॉकेट जीएसएलवी एमके तीन का इस्तेमाल करने की योजना में हैं।
– अंतरिक्ष में जाने वाले इन अंतरिक्ष यात्रियों को व्योमनॉट्स के नाम से जाना जाएगा। व्योम एक संस्कृत भाषा का शब्द है जिसका अर्थ अंतरिक्ष होता है।

ये भी पढ़ें:

ताजा अपडेट के लिए लिए आप हमारे फेसबुकट्विटरइंस्ट्राग्राम और यूट्यूब चैनल को फॉलो कर सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here