गुर्जर आंदोलन: रेलवे ट्रैक पर तंबू लगाकर बैठे आंदोलनकारी, ये जिले हुए सबसे ज्यादा प्रभावित

0
68

राजस्थान: पांच फीसदी आरक्षण की मांग को लेकर राजस्थान में दो दिन से किए जा रहे गुर्जर आंदोलन की वजह से रेलवे ने शनिवार को 14 ट्रेनें रद्द कर दीं। चार के मार्ग बदले गए हैं। शुक्रवार को भी 25 ट्रेनों पर असर पड़ा था। सवाईमाधोपुर के मलारना स्टेशन और नीमोदा रेलवे स्टेशन के बीच गुर्जरों ने ट्रैक पर ही तंबू लगा लिया है और अलाव जलाकर बैठे हैं।इससे दिल्ली और मुंबई के बीच ट्रेनों का आवागमन बंद हो गया।

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने गुर्जर समुदाय के आंदोलन पर बयान दिया है। उन्होंने कहा, ‘मैं लोगों से अपील करता हूं कि उन्हें रेलवे ट्रैक पर नहीं बैठना चाहिए। उनकी मांगों को संविधान में संशोधन के बाद ही पूरा किया जा सकता है। इसलिए उन्हें पीएम मोदी को ज्ञापन सौंपना चाहिए।’

गौरतलब है कि राजस्थान में गुर्जरों के लिए पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर समुदाय एक बार फिर आंदोलन कर रहा है। गुर्जर राज्य में रेल रोको आंदोलन कर रहे हैं। 8 फरवरी से शुरू हुए इस आंदोलन में अगुवा नेता कर्नल किरोड़ी लाल बैंसला भी पटरी पर बैठ गए हैं।

खबर के अनुसार, कर्नल बैंसला के आह्वान के बाद भरतपुर, कोटा और सवाई माधोपुर के साथ कई अन्य जगहों पर भी ट्रेनें रोकी गई हैं साथ ही गुर्जरों ने सवाई माधोपुर में अवध एक्सप्रेस और भरतपुर के बयाना में चंडीगढ़ कोच्चि ट्रेन रोक दी।

शनिवार को ये रद्द की गईं

19020 देहरादून-बांद्रा एक्सप्रेस
19021 बांद्रा टर्मिनस-लखनऊ एक्सप्रेस
12415 इंदौर-नई दिल्ली सुपारफास्ट एक्सप्रेस
12416 नई दिल्ली-इंदौर सुपारफास्ट एक्सप्रेस
12909 बांद्रा-निजामुद्दीन गरीब रथ

इनके अलावा नौ और ट्रेनों को रद्द किया गया है।

शुक्रवार को 25 ट्रेनें प्रभावित हुईं थीं

59812 आगरा फोर्ट-रतलाम- रद्द

54794 मथुरा-सवाई माधोपुर पैसेंजर आंशिक रद्द

12060 जनशताब्दी एक्सप्रेस, आंशिक रद्द

69155 रतलाम-मथुरा, आंशिक रद्द

59811 रतलाम-आगरा, आंशिक रद्द

20 ट्रेनों का मार्ग बदला गया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here