भारत ने किया पाकिस्तान पर अब जलप्रहार, रोका इन तीन मुख्य नदियों का पानी

0
106

जयपुर: पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान के खिलाफ भारत की कार्रवाई लगातार जारी है। अब खबर है भारत पाकिस्तान जाने वाली नदियों का पानी रोक दिया है। इसका ऐलान खुद केंद्रीय जल संसाधन राज्य मंत्री अर्जुन मेघवाल ने किया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की ओर जाने वाली तीन नदियों का पानी भारत ने रोक दिया है।

राजस्थान में बीकानेर पहुंचे केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल मेघवाल ने बताया कि पाकिस्तान में बहने वाली पूर्वी नदियों के 0.53 मिलियन एकड़ फीट पानी को रोक दिया गया है और इसे संग्रहित किया गया है। जब भी राजस्थान या पंजाब को इसकी जरूरत होगी, उस पानी का उपयोग पीने और सिंचाई के लिए किया जा सकता है।

इन तीन नदियों के पानी को रोका
भारत ने पाकिस्तान की ओर जाने वाली तीन नदियों ब्यास, रावी और सतलज का अपने हिस्से का पानी रोकने की बात कही। आपको बता दें इससे पहले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने घोषणा की थी कि सिंधु समझौते के तहत भारत अपने हिस्से का पानी पाकिस्तान जाने से रोक देगा। केंद्र सरकार का यह कदम 1960 की सिंधु जल संधि का उल्लंघन नहीं करता है, क्योंकि भारत ने केवल अपने हिस्से के पानी को रोका है। भारत अपने हिस्से के पानी का उपयोग करने का हकदार है।

भारत और पाकिस्तान के बीच 1960 में सिंधु जल समझौता हुआ था। यह समझौता पूर्व की ओर बहने वाली नदियों- ब्यास, रावी और सतलज के पानी के प्रयोग के लिए हुआ है। इस समझौते के तहत भारत को 3.3 करोड़ एकड़ फीट (एमएएफ) पानी मिला है, जबकि पाकिस्तान को 80 एमएएफ पानी दिया गया है। इसबात पर हमेशा विरोध हुआ है कि भारत को पाकिस्तान से ज्यादा पानी मिला है।

बता दें, इससे पहले भारत पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा भी छीन चुका है। पुलवामा हमले और अभिनंदन वर्धमान को हिरासत में लेने और उस पर झूठ पर झूठ बोलने के कारण पाकिस्तान की दुनियाभर में निंदा हुई।

ये भी पढ़ें:
देखिए तस्वीरें: अंबानी के बेटे की शादी में कौन-कौन पहुंचा?
जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी
VIDEO: बुमराह ने आखिरी गेंद पर मारा ऐसा छक्का, विराट कोहली सहित झूमा पूरा भारत

Surf Excel की इस शानदर ऐड पर क्यों भड़का सोशल मीडिया, देखें Video
देश में आज से आचार संहिता लागू, 23 मई को लोकसभा चुनावों के आएंगे नतीजे

ताजा अपडेट के लिए लिए आप हमारे फेसबुकट्विटरइंस्ट्राग्राम और यूट्यूब चैनल को फॉलो कर सकते हैं