भूलकर भी मत खाना जली ब्रेड, बढ़ता है इस जानलेवा बीमारी का खतरा

0
111

सुबह नाश्ते में ज्यादातर लोग ब्रेड खाना पसंद करते हैं। अपने बच्चों को भी ब्रेड खिलाते हैं। यहां तक तो ठीक है लेकिन कुछ लोग नाश्ता तैयार करते हुए ब्रेड जला देते हैं और उसे नाश्ते में खा भी लेते हैं। लेकिन क्या आपको पता है ये आपकी लापरवाही है जो बड़ी बीमारी को बुलावा दे रही है।

दरअसल एक रिपोर्ट के मुताबिक ऐसे खाद्य पदार्थ जिनमें स्टार्च की मात्रा अधिक होती है, उन्हें अगर उन्हें अधिक ताप पर पकाया जाता है, तो उनमें से एक्रिलामाइड नाम का केमिकल रिलीज होता है। यह वही केमिकल है जो हमारे शरीर में कैंसर के रिस्क को बढ़ाता है।

एक डच स्टडी के मुताबिक आलू और ब्रेड जैसे स्टार्चयुक्त पदार्थों में अमीनो एसिड होता है, जिसे एस्पेरेगिन कहा जाता है। ऐसे में जब स्टार्च वाले पदार्थों को हाई टेंपरेचर पर गर्म किया जाता है तो इन स्टार्च वाले फूड आइटम्स में मौजूद एस्पेरेगिन के साथ मिलकर एक्रिलामाइड केमिकल भी रिलीज होने लगता है जिससे इन चीजों का सेवन खतरनाक हो सकता है।

इस तरह का खाना खाने के बाद यह केमिकल डीएनए में प्रवेश कर जाता है, जो कोशिकाओं को बदल देता है। यह कैंसर का कारण बन सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार एक्रिलामाइड शरीर में एक न्यूरोटॉक्सिन के रूप में भी कार्य कर सकता है। न्यूरोटॉक्सिन एक तरह का जहर होता है, जो तंत्रिकाओं को खत्म कर देता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO के अनुसार एक्रिलामाइड के हानिकारक प्रभावों की चर्चा अभी अधूरी है, लेकिन ऑर्गनाइजेशन का कहना है कि कैंसर के जोखिम से बचने के लिए स्टार्चयुक्त खाद्य पदार्थों को कम समय के लिए पकाना चाहिए। साथ ही किसी भी खाद्य पदार्थ को बहुत ज्यादा देर तक या बहुत हाई टेंपरेचर पर बिलकुल नहीं पकाना चाहिए।

ये केवल ब्रेड की बात नहीं हो रही है यहां हर उस खाद् साम्रगी की बात की जा रही जिसमें स्टार्च पाया जाता है। तो अब आपको अपने परिवार और उनकी सेहत के लिए सावधान होने की जरूरत है। क्योंकि ये बीमारी दबे पांव हमारी जिंदगी में आती हैं और फिर कभी नहीं लौटती।

ये भी पढ़ें:

ताजा अपडेट के लिए लिए आप हमारे फेसबुकट्विटरइंस्ट्राग्राम और यूट्यूब चैनल को फॉलो कर सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here