इस बार 15 दिन देरी से आएगा सावन, लाएगा बहुत अच्छे योगों का संयोग

0
329

नवविवाहिताओं और महिलाओं को सावन का 15 दिन इंतजार करना पड़ेगा। इस साल अधिकमास आने से श्रावण मास 15 दिन देरी से शुरू होगा। शिव-पार्वती की अराधना प्रमुख माह सावन का शुभारंभ 27 जुलाई से होगा। माह में चार सोमवार आएंगे। 30 जुलाई, 6 अगस्त, 13 अगस्त और 20 अगस्त को सावन के सोमवार के दिन विशेष रूप से शिव परिवार का पूजन और अराधना की जाएगी।

इस बार सावन की तीज भी सोमवार 13 अगस्त को ही आएगी। इस दिन पार्वती स्वरूपा तीज माता की पूजा का विशेष महत्व रहेगा। इससे एक दिन पूर्व 12 अगस्त को सिंजारा मनाया जाएगा। नाग पंचमी 2 अगस्त को, 11 को हरियाली अमावस्या और 26 अगस्त को रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया जाएगा। पूरे सावन माह में सर्वार्थसिद्धि, रवियोग व राजयोग जैसे योगों का संयोग पड़ेगा।

कौनसा त्योहार किस दिन
31 जुलाई से मंगला गौरी पूजन
2 अगस्त नाग पंचमी
8 अगस्त एकादशी उपवास
9 अगस्त प्रदोष व्रत
11 अगस्त हरियाली अमावस्या
12 अगस्त को सिंजारा
13 अगस्त को तीज और सावन का तीसरा सोमवार
15 अगस्त को रंगीली पंचमी
16 अगस्त भगवान कल्कि जयंती
26 अगस्त को रक्षाबंधन

रवि योग, सर्वार्थ सिद्धि योग सहित कई संयोग
ज्योतिषशास्त्री ने बताया कि पूरे सावन में कई संयोग पड़ेंगा। इसी क्रम में 13 अगस्त तीज को रवियोग, 20 अगस्त दशमी को रवियोग दिन-रात, 15 अगस्त रंगीली पंचमी के दिन सर्वार्थसिद्धि योग रहेगा। 16 अगस्त कल्कि जयंती को रवियोग, 24 व 25 सर्वार्थसिद्धि व रवियोग, 26 अगस्त रक्षा बंधन के दिन सूर्योदय से लेकर दोपहर 12:36 बजे तक राजयोग रहेगा। आपको बता दें, मंगला गौरी की पूजा अच्छे वर की प्राप्ति के लिए युवतियां करती हैं, जो सावन के पहले मंगलवार से शुरू करती है। इसमें माता पार्वती का रोली-मोली-चावल सहित अन्य सामग्री से पूजन कर मनचाहा वर की कामना की जाती है।

ये भी पढ़ें:

रूचि के अनुसार खबरें पढ़ने के लिए यहां किल्क कीजिए

ताजा अपडेट के लिए लिए आप हमारे फेसबुकट्विटरइंस्ट्राग्राम और यूट्यूब चैनल को फॉलो कर सकते हैं