भगोड़ा विजय माल्या भारत आने को तैयार, 9000 करोड़ का कर्ज चुकाने के लिए रखी ये शर्त

0
49

नई दिल्ली: शराब कारोबारी विजय माल्या बैंकों का 9000 करोड़ का कर्जा चुकाने के लिए तैयार है लेकिन इस कर्ज को चुकाने के लिए माल्या ने एक शर्त रखी है। विजय माल्या ने बुधवार की सुबह ट्वीट कर कहा है कि वह भारतीय बैकों के सारे कर्ज चुकता करने को तैयार हैं, मगर वह ब्याज नहीं दे सकते हैं।

विजय माल्या ने एक साथ तीन ट्वीट किए और उन्होंने बैंकों के 100 फीसदी मूलधन वापस करने का प्रस्ताव पेश किया साथ ही उन्होंने कहा है कि उनके साथ भारतीय मीडिया और राजनेताओं ने पक्षपात किया है। विजय माल्या ने ट्वीट कर कहा कि ‘पिछले तीन दशकों तक सबसे बड़े शराब समूह किंगफिशर ने भारत में कारोबार किया है। इस दौरान कई राज्‍यों की मदद भी की है।

किंगफिशर एयरलाइंस भी सरकार को भरपूर भुगतान कर रही थी लेकिन शानदार एयरलाइंस का दुखद अंत हुआ, मगर फिर भी मैं बैंकों भुगतान करना चाहता हूं जिससे उन्‍हें कोई घाटा न हो। कृपया इस ऑफर को स्‍वीकार करें। विजय माल्या ने तीसरे ट्वीट में कहा, राजनेता और मीडिया लगातार चिल्लाकर मुझे पीएसयू बैंकों का पैसा उड़ा लेने वाला डिफॉल्‍टर घोषित कर रहे हैं।  मगर यह सब झूठ है। मेरे साथ हमेशा से ही पक्षपात किया गया है, मेरे साथ उचित व्यवहार क्यों नहीं किया जाता है? मैंने कर्नाटक हाईकोर्ट में व्यापक निपटान का प्रस्ताव दिया था, इसे सबने अनसुना कर दिया। बेहद दुखद।

गौरतलब है कि दरअसल, विजय माल्या को कई बैंकों से लिए गए करीब 9,000 करोड़ रुपये का कर्ज ना चुकाने के लिए डिफॉल्टर घोषित कर रखा है और भारत ने उसे भगोड़ा भी घोषित कर रखा है। माल्या ने मंगलवार को लंदन में अदालत में अपनी पेशी के दौरान दावा किया कि उनके पास अपने मामले की वकालत करने के लिए र्प्‍याप्‍त सबूत हैं।

ये भी पढ़ें:

रूचि के अनुसार खबरें पढ़ने के लिए यहां किल्क कीजिए

ताजा अपडेट के लिए लिए आप हमारे फेसबुकट्विटरइंस्ट्राग्राम और यूट्यूब चैनल को फॉलो कर सकते हैं