ऐसा क्या है जो 10 साल में मनमोहन सिंह नहीं कर पाए वो 4 साल में PM मोदी ने कर दिखाया?

0
86

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश का कार्यभार संभाले हुए 4 साल 7 महीने का समय पूरा हो चुका है। इस दौरान पीएम पद पर रहते हुए मोदी के विदेश दौरों पर करीब 2 हजार करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। सरकार ने संसद में जो सूचना मुहैया कराई है, उसके मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जून 2014 से विदेश यात्रा के दौरान चार्टर्ड उड़ानों, विमानों के रखरखाव और हॉटलाइन सुविधाओं पर कुल 2,021 करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।

केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने मनमोहन सिंह के आधिकारिक विदेश दौरों से संबंधित सवालों के जवाब में यह जानकारी दी, जिसमें पूछा गया कि आखिर 2009 से 2014 तक मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्री के रूप में कितने खर्च हुए और 2014 के बाद से पीएम मोदी के विदेश दौरों में कितने खर्च हुए।

आंकड़ों के मुताबिक, 15 जून 2014 और 3 दिसंबर 2018 की अवधि के दौरान प्रधानमंत्री के विमान के रखरखाव पर कुल 1,583.18 करोड़ रुपये और चार्टर्ड विमानों पर 429.25 करोड़ रुपये खर्च किए गए। वहीं, हॉटलाइन सुविधाओं पर 9.11 करोड़ रु खर्च हुए। बता दें कि वीके सिंह द्वारा उपलब्ध कराए गए विवरण में 2017-18 और 2018-19 में पीएम मोदी की विदेश यात्राओं के दौरान हॉटलाइन सुविधाओं पर खर्च शामिल नहीं है।

प्राप्त हुई जानकारी के मुताबिक, अगले कुछ महीनों में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले वह अगर दो देशों का दौरा करते हैं तो बतौर प्रधानमंत्री सबसे ज्यादा दुनिया के अन्य देशों की यात्रा करने वाले दूसरे भारतीय प्रधानमंत्री बन जाएंगे। इससे पहले इंदिरा गांधी ने बतौर भारतीय प्रधानमंत्री सबसे ज्यादा 113 देशों की यात्राएं की थी।

जहां तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सवाल है तो उन्होंने कुल 92 देशों (एक ही देश की दोबारा यात्रा भी शामिल) की यात्राएं की हैं और वह महज एक यात्रा से मनमोहन सिंह से पीछे हैं। मोदी के पूर्ववर्ती मनमोहन सिंह ने अपने प्रधानमंत्रीत्व कार्यकाल में 93 देशों (एक ही देश की दोबारा यात्रा भी शामिल) की यात्राएं की थी।

हालांकि पीएम मोदी और मनमोहन सिंह के बीच विदेश यात्राओं में बड़ा अंतर यह है कि मनमोहन सिंह ने अपने 10 साल के 2 कार्यकाल के दौरान 93 देशों की यात्राएं की थी, जबकि मोदी ने अपने साढ़े 4 साल के कार्यकाल में कुल 92 देशों की यात्राएं कर चुके हैं।

मोदी की सबसे महंगी यात्रा

राज्यसभा से मंत्री की ओर से पेश किए गए आंकड़ों के मुताबिक मोदी की विदेश यात्रा पर सबसे ज्यादा खर्च 9 अप्रैल से 17 अप्रैल, 2015 तक की 9 दिवसीय फ्रांस, जर्मनी और कनाडा की यात्रा पर आया था। इस यात्रा पर लिए गए चार्टर्ड फ्लाइट पर 31.25 करोड़ रुपये खर्च हुए थे। इसके बाद 11 नवंबर से 20 नवंबर, 2014 के बीच म्यामांर, ऑस्ट्रेलिया और फीजी की यात्रा पर 22.58 करोड़ खर्च आया जो उनकी दूसरी सबसे महंगी विदेश यात्रा रही।

ये भी पढ़ें:

ताजा अपडेट के लिए लिए आप हमारे फेसबुकट्विटरइंस्ट्राग्राम और यूट्यूब चैनल को फॉलो कर सकते हैं