बालाकोट के लोगों ने उठाए IAF पर सवाल, कहा, आतंकियों के शव दिखाए भारत

ग्रामीण अब्दुर रशीद से बात की गई तो उन्होंने बताया कि बम के झटके काफी मजबूत थे। लेकिन उनके मुताबिक इस एयर स्ट्राइक में कोई इनसानी मौत नहीं हुई।

1
247

नई दिल्ली: पुलवामा हमले के ठीक 13 दिन बाद की गई भारतीय एयर स्ट्राइक को लेकर ठीक सर्जिकल स्ट्राइक की तरह सवाल उठने शुरू हो गए हैं। जहां एक तरफ विपक्ष मोदी सरकार से सबूत मांग रहा है वहीं अब बालाकोट( पाकिस्तान) के ग्रामीण सवाल उठा रहे हैं।

समाचार एजेंसी रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक स्थानीय लोगों का कहना है कि एयर स्ट्राइक में बड़ी संख्या में आतंकियों के मारे जाने का दावा सही नहीं है। आपको बता दें रॉयटर्स की ये खबर चंद लोगों की बातचीत पर आधारित है। रिपोर्ट में दी गई जानकारी के मुताबिक, बालाकोट टाउन के ही एक गांव जाबा के रहने वाले 62 वर्षीय नूरन शाह ने पूछा- वो (भारतीय) कहते हैं कि वो आतंकियों को मारना चाहते थे। आप देखिए यहां आतंकियों की कोई लाशें दिख रही हैं। क्या आपको यहां कोई आतंकवादी दिखाई दे रहा है? हम लोग यहां रहते हैं, क्या हम आतंकवादी हैं?

रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि, जब इलाके के ग्रामीण अब्दुर रशीद से बात की गई तो उन्होंने बताया कि बम के झटके काफी मजबूत थे। लेकिन उनके मुताबिक इस एयर स्ट्राइक में कोई इनसानी मौत नहीं हुई। जाबा के पास एक अस्पताल में उस रात मौजूद रहे सरकारी कर्मचारी मोहम्मद सादिक का कहना है कि भारत के दावे में कोई दम नहीं है। हमारे अस्पताल में कोई भी घायल व्यक्ति नहीं पहुंचा। रशीद के अलावा भी रॉयटर्स ने कुछ अन्य लोगों से बात की है जिसमें स्थानीय लोग आतंकी कैंप में एयर स्ट्राइक की बात को झुठला रहे हैं।

गौरतलब है कि भारत ने मंगलवार को दावा किया था उसने जैश-ए-मोहम्मद के बड़े ट्रेनिंग कैंप पर एयर स्ट्राइक कर तबाह कर दिया है। जैश-ए-मोहम्मद ही वो संगठन है जिसने बीती 14 फरवरी को कश्मीर के पुलवामा में सीआपीएफ काफिले पर हुए भीषण आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली थी।

भारत के विदेश सचिव विजय गोखले ने एयर स्ट्राइक के बाद मीडिया को जानकारी दी कि बड़ी संख्या में जैश के आतंकियों, ट्रेनर्स और सीनियर कमांडरों को मार गिराया गया है। एक अन्य वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने मीडिया को बताया था कि करीब 300 आतंकी मारे गए हैं। भारत की तरफ से की गई कार्रवाई का उद्देश्य बताते हुए अधिकारियों ने कहा, कि जैश द्वारा फिर से भारत में हमले करने की साजिश बना रहा था जिससे नाकाम करने के लिए एयरस्ट्राइक करनी पड़ी।

हालांकि गुरुवार एयर मार्शल आरजीके कपूर से पूछा गया कि एयर स्ट्राइक के दौरान कितने आतंकी मारे गए तो उनका जवाब था कि मौतों के बारे डिटेल्स देना परिपक्व निर्णय नहीं था। लेकिन उन्होंने यह भी स्पष्ट किया था कि भारतीय सेनाओं के पास इस एयर स्ट्राइक के पूरे सबूत मौजूद हैं। पाकिस्तान ने भारत के इस दावे का खंडन किया था और कहा कि भारत का ये ऑपरेशन असफल था। पाकिस्तान के हिसाब से भारत ने बम उन जगहों पर गिराए गए जो एक खाली पहाड़ी इलाका था।

ये भी पढ़ें:
कश्मीर में जमात-ए-इस्लामी के 70 ठिकाने जल्द होंगे सील, कई नेता हिरासत में
आ गया भारत का अभिनंदन, पाकिस्तान ने कमांडर का दवाब में बनाया Video
UGC NET 2019: जून परीक्षा के लिए आवेदन आज से शुरू, ऐसे करें आवेदन
Maha Shivratri 2019: इस साल है महाशिवरात्रि पर शुभ संयोग, शिव देंगे अपने भक्तों को मनचाहा फल
जैश के निशाने पर पूरी दिल्‍ली, सुरक्षा एजेंसियों ने जारी किया अलर्ट
मध्य प्रदेश में हर रोज लापता होते हैं 27 बच्चे, सरकार कितनी गंभीर है?

ताजा अपडेट के लिए लिए आप हमारे फेसबुकट्विटरइंस्ट्राग्राम और यूट्यूब चैनल को फॉलो कर सकते हैं

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here